Introduction to Wearable technology and fields in Hindi

    0
    148

    हेल्लो दस्तों. आज कल हम technology का काफी इस्तेमाल करने लगे हैं. और IOT(Internet Of Things) का use बहुत ज्यादा होने लगा है. तो आज हम IOT से सम्बंधित एक चीज़ के बारे में जानते हैं, जिसे हम Wearable Technology भी कहते हैं.

    पहली बात तो ये की ये “Wearable Technology” का मतलब क्या है? तो चलिए जानते हैं की ये है क्या? कैसे काम करता है? कैसे help करता हैं? आदि.

    wearable technology in Hindi

    Wearable technology क्या है ?

    अगर हम इसके नाम से इसका मतलब निकले तो ये एक ऐसी Technology है जिसे हम पहन सकते हैं. क्या असल में इसका मतलब यही है? बिलकुल, Wearable Technology कुछ ऐसे device हैं जिसे हम पहन कर इस्तेमाल कर सकते हैं. और इनकी connectivity internet द्वारा होती है. इसी कारण इसे IOT में भी शामिल किया जाता है.

    अब आप सोच रहे होंगे की हम किसी technology या internet को कपड़ो की तरह कैसे पहन सकते हैं. पर आप को मै बता दूँ की आप इन चीजों का बहुत समय से इस्तेमाल कर रहें हैं.

    History of wearable technology

    1500 में एक German Inventor Peter Henlein ने घडी बनाई थी जो की necklace जेसे पहना जाया करता था. फिर थोडा fashionable दिखने के लिए लोगों ने उस घडी को pocket में रखना शुरू कर दिया. फिर वो हाथों में पहना जाने लगा. अब जब एक घडी इतनी जगहों पर पहना या carry किया जा सकता है तो ये एक Wearable Technology ही हुआ ना. May be you have never thought of that, right?

    कुछ ऐसे ही modernise होते होते हमने कई नए technical चीज़े invent किया जिसे हम पहन सके. फिर 2002 में CuteCircuit ने सबसे पहला Wearable Technology बनाया जिसे हम एक कपडे की तरह wear कर  सकते हैं. इसे HugShirt नाम दिया गया. यह tele-transmitting touch के लिए बनाया गया था. यह bluetooth से connect किया गया था.

    फिर bluetooth microphone कान के झुमकों (Earrings) में लगाया गया, colour camera tie में लगाया गया आदि. पर ये तब तक सिर्फ फैशन और technology का अजब संगम था. पर यूटिलिटी उतनी थी नहीं और जब तक ये चीजे affordable नहीं होंगे तो common people तक पहुँच पाना मुश्किल था.

    Revolution in wearable technology

    McLear और Fitbit दो ऐसे company थे जिन्होंने कुछ ऐसे चीजें बनाये जो की लोगों के काम आ सके. जेसे की Fitbit band जो हमें हमारे सेहत के बारे में बताती है. फिटनेस बैंड आने के बाद तो जैसे wearable technology में बहार आ गयी. Mi के फिटनेस बैंड काफी ज्यादा पोपुलर होने लगे. और technology की असीम क्षमता को देखते हुए, इसमें म्यूजिक, हेल्थ, कॉल फैसिलिटी, टाइमर और भी बहुत सारी फैसिलिटी add हो गयी हैं. और price कम होने से अभी सबकी reach में आ गया है.

    VR and werable technology

    फिर Virtual Reality (VR) headset use आने से इस फील्ड में एक नया आयाम आया और हम घर बैठे बैठे पूरी दुनिया घूम सकते हैं.

    एक और Wearable Technology है Google Glass. जो लोग हमे फॉलो करते हैं उन्होंने इस बारे में हमारा article पढ़ा होगा. और अगर आप ने नही पढ़ा या आप इधर नए आये हैं तो आप इस लिंक https://www.maitechbaba.com/google-glass/  पर जा के पढ़ सकते हैं.

    और तो और, यहाँ तक की 2014 में Hyderabad में इस technology को जूतों मे भी इस्तेमाल किया गया ताकि वो हमे guide कर से जेसे की Google Maps करता है.

    What can we do with Wearable technology

    अब हम हमारे health से related कुछ जानते हैं. जैसे की आप ने पढ़ा की Fitbit band हमारे health के बारे में हमें बताता है, तो चलिए इसी से शुरू करते हैं. ये हमे ये सब सुविधाये देता है :

    1. Heart Rate
    2. Calories Burned
    3. Steps Walked
    4. Blood Pressure
    5. Release of certain biochemicals
    6. Time spent exercising
    7. Seizures
    8. Physical strain

    लेकिन हम इधर ही नही रुकते हैं. अभी और भी चीज़ें आने वाली हैं जैसे की:

    1. Mood, Stress, health
    2. Blood alcohol content
    3. Athletic performance
    4. Health of person (sick or not)आदि .

    Wearable Technology for Entertainment

    अब थोडा entertainment के बारे में जानते हैं. जो Virtual Reality (VR) headsets होते हैं वो हमें बाहरी दुनिया की सैर कराती है. आप quality टाइम स्पेंड कर सकते हैं. हम इसमें games खेल सकते हैं, movies देख सके हैं, बहुत सरे चीजें एक्सपीरियंस कर सकते हैं जो की हमें असल ज़िन्दगी में करने से डर लगता है या हमे मौका नही मिलता है. Weekends में इस तरह के experience आपको फिर से regenerate कर देते हैं.

    Wearable technology and entertainment

    Wearable Technology in field of Fashion

    क्यूंकि हम इतना आगे आ ही गए हैं तो हम थोडा fashion के बारे माँ भी जन लेते हैं. इन fashion wears को हम E-textiles कहते हैं. कुछ companies जो की ये textiles बनाने का काम करती हैं वो हैं:

    • CuteCircuit
    • Project Jacquard
    • Intel & Chromat
    • Iris van Herpen

    और ये कुछ methods से बनती हैं.

    1. Embroidery
    2. Sewing
    3. Weaving
    4. Non-woven
    5. Knitting
    6. Spinning
    7. Breading
    8. Coating
    9. Printing
    10. Laying

    Use of wearable technology in Defense

    इस technology का use Military में भी होता है. वहां VR का इस्तेमाल किया जाता है ताकि वो युद्ध के समय का situation महसूस कर सके और उस दर्द को महसूस करने के लिए वो एक schok belt पेहेनते हैं जो उन्हें हर एक गोली लगने पर एक amount का shock देता है. और आपको reality का अहसास दिलाता है.

    आज के समय में virtual reality और wearable technology साथ साथ चल रहे हैं और technology के फील्ड में नए नए benchmark स्थापित कर रहे हैं.

    Criticism or disadvantage of wearable technology

    शुरुआत में wearable technology के बारे में बहुत कुछ बोला भी गया, कि excess ऑफ़ technology अच्छा नहीं है और technology से एक distance बना कर रखा जाना चाहिए. इनसे रेडिएशन और electromagnetic waves हम लोगो पर impact डाल सकती हैं. पर धीरे धीरे wearable technology के designs improve हो रहे हैं और इस तरह से होने वाले नुक्सान को अवॉयड करने के प्रयास भी किए जा रहे हाँ.  इसीलिए इन सब advantages के बाद भी इन में कुछ बदलाव किये जाते हैं ताकि ये हम सब पर शारीरिक और मानसिक तनाव न डालें. और ये इसलिए भी किया जाता है ताकि जो personal rights हैं वो टूटे ना.

    वैसे आज हमने बहुत कुछ जान लिया. इन Wearable Technologies द्वारा बहुत कुछ किया जा सकता है अगर सही तरीके से इन्हें इस्तेमाल किया गया. हम माने या न माने आने वाला future wearable technology के लिए bright है. तो चलिए, फिर मिलते हैं एक नए article के साथ. अपना ध्यान रखें और हमारे इस article के बारे में हमें निचे comment section में बताएं.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here