Configure RFID with Arduino in Hindi

0
96

हैलो !!!

दोस्तों आज हम बात करेंगे RFID technology के बारे में. RFID यानी Radio Frequency Identification. इसका मतलब information जो होती है वो Radio waves के जरिये transmit की जाती है. यह technology 1945 में पहली बार Radio retransmitter की तरह शुरू हुई थी. बाद में WORLD WAR 2 में Fighter Plane, अपना है या दुश्मन का, वो जानने ले लिए इस्तमाल की थी. अंत में 1983 में RFID सबसे पहले यह नाम से Patent हुआ.

Read More: Arduino क्या है? | Introduction |History|Types |
Read More: IOT & Arduino | आई ओ टी  और एरडूइनो
Read More: Electronic Projects

आप इसको हर जगह देख सकते है. सबसे ज्यादा इसका उपयोग tags में होता है. RFID tags को आप credit card, Fastag Toll Booth, Mall के कपड़ो में पायेंगे. wireless credit card को machine के ऊपर घुमाने से Transaction हो जाता है, fasttag से Toll Booth पर  गाडी आये तो आपके बैंक अकाउंट में से टोल pay हो जाता है, Mall में कपड़ो में tags रहता है ताकि गलती से कोई पेहेनके चला exit पे चला ना जाए. यह tags में data स्टोर होता है जो reciver के contact में आते ही transmit होता है. दोस्तों Internet of Things में भी RFID बड़े काम की चीज़ है और आप इसको wireless का Barcode कह सकते है.


Types of Tags

RFID Tag या RFID chip को आप दो पार्ट में बाट सकते है. एक antenna और दूसरी IC. यह निचे आप कई प्रकार के tags देख सकते है.

2019-06-21_23h33_38.png

अब tags भी दो प्रकार के होते है: active और passive. active tags में power source होता है और passive टैग में कोई power source नहीं होता, यह reader के electromagnetic induction से antenna से, energize होता है. एक बार energize हो गया तो tag data transmit करता है और reader का receiving antenna अलग impedance पे होने के कारण data reader में जाता है.

2019-06-21_23h34_38.png

अब मॉल और सब जगह तो बड़े बड़े RFID Reader use होते है तो इतने बड़े device के साथ काम केसे करना. तो टेंशन मत लीजिए RFID के छोटे modules भी आते है. EM-18 और MFRC522 यह दो modules आसानी से मिल जाते है और uno के साथ आप connect भी कर पाएंगे. दोनों में differen2019-06-21_23h34_44.pngce येही है की EM-18 UART और WIEGAND protocol पे काम करता है और MFRC522 SPI पे काम करता है. EM-18 industry में भी use होता है और MFRC522 home uses के लिए ज्यादातर इस्तमाल होता है. अब आप UART और SPI को जानते है लेकिन WIEGAND भी एक protocol है जो ज्यादा secure है इसलिए इस्तमाल किया जाता है.



EM-18 module

यह एक सस्ता और अच्छा RFID module है, जिसको आप RS232 connector से connect कर सकते है. यह 125 kHz पे काम करता है. यह 9 पिन का module है और पिन functions आप table में देख सकते है.

Pin No. Name Function
1 VCC 5V
2 GND Ground
3 BEEP BEEP and LED
4 No Use
5 No Use
6 SEL HIGH selects RS232, LOW selects WEIGAND
7 TX UART TX, When RS232 is Selected
8 D1 WIEGAND Data 1
9 D0 WIEGAND Data 0

2019-06-21_23h43_02.png2019-06-21_23h44_09.png


MFRC522

यह भी पोपुलर RFID module है और आप इसको आसानी से uno के साथ interface कर सकते है. यह SPI protocol से काम करता है. इसमें 8 pins है जिसमे 6 SPI के MOSI, MISO, SCK, SDA, VCC, GND और दूसरे  दो pins में एक RESET के लिए है.

2019-06-21_23h47_25.png

चलिए हमने RFID केसे काम करता है वो जाना. इसके बाद कौन से modules market में है उसके बारे में जानकारी प्राप्त की. अब हम इसको अपने uno के साथ interface करेंगे.


INTERFACING WITH UNO

हम EM18 को interface करते है. आप नीचे दी गई image की तरह connection कर दीजिये. Vcc , GND और RFID का Tx uno के Rx के साथ.

अब कोड देखते है.

int count = 0;                              
char ID[12];                                                           
void setup()
{
Serial.begin(9600);                 
}
void loop()
{
   if(Serial.available())
   {
      count = 0;
      while(Serial.available() && count < 12)
      {
         ID[count] = Serial.read();
         count++;
         delay(5);
      }

      Serial.print(ID);                    
      if((ID[0] ^ ID[2] ^ ID[4] ^ ID[6] ^ ID[8] == ID[10]) &&
         (ID[1] ^ ID[3] ^ ID[5] ^ ID[7] ^ ID[9] == ID[11]))
            Serial.println("No Error: RFID number is correct");
      else
            Serial.println("Error:RFID number is incorrect");     
   }
}

 

EM-18 में UART है इसका मतलब serial communication, तो हम setup में इसको 9600 की baud rate से set करेंगे. अब हर rfid tag का 12 charaters का unique ID होता है. जब tag reader की range में आता है तो यह ID transmit होता है. हर एक character के लिए 5 usec का टाइम लगता है.


Understanding the Algorithm

तो हमने ID[ ] नाम का एक array बना दिया जिसमे हम Transmmited tag ID को save करेंगे. अब जब कोई भी tag reader के नजदीक आयगा तब reader का tx uno के rx में यह data send करेगा. इसलिए हम condition डालते है की अगर serial.available() तो हर 5 usec पे एक charater आयेगे और उसको हमे ID[ ] array में store करना है. सही sequence में tag ID save हो इसके लिए एक counter variable define किया है जो 12 character को सही से ID[ ] में save करेगा. अब यह character ASCII character होते है और tag ID सही से read हुआ है या नहीं वो हम check कर सकते है. उसके लिए हम character 0,2,4,8 को xor करते है और 10th character के साथ compare करते है. इसी तरह character 1,3,5,7,9 को 11th character के साथ compare करते है. अगर दोनों comparision true है, तो ID सही स्टोर हुआ है वरना गलत है.

तो दोस्तों आपको ID मिल गया अब आपको इससे door lock बनाना हो तो आप एक tag ID uno में save कर सकते है और जब जब reader tag read करे तब तब अपने saved ID के साथ compare करे. अगर ID मैच हुआ तो door unlock करे वरना door lock ही रहेगा.

Read More: Arduino क्या है? | Introduction |History|Types |
Read More: IOT & Arduino | आई ओ टी और एरडूइनो
Read More: Electronic Projects

इसे तो आप कई सरे उपयोग कर सकते है. दोस्तों आज हमने RFID के बारे में जाना और हमने जाना की future में RFID का बड़ा scope है. हमने दो modules के बारे में बात की और एक module को uno के साथ केसे interface कर सकते है वो जाना. तो दोस्तों अब आप इसको use करे और अपने uno के साथ interface करके नए नए projects बनाये. में मिलता हु आपको अगले blog में तब तक के लिए Happy IoTing!!!


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here