मल्टीमीटर ( Multimeter ) क्या है और कैसे काम करता है.


स्वागत है दोस्तों आप सभी का electronic column में और आज हम एक बहुत ही interesting equipment के बारे में पढेंगे. जी हाँ. आज हम देखेंगे की मल्टीमीटर क्या है और कैसे काम करता है.  यह post उन लोगों के लिए बहुत फायदे की चीज़ है जो स्टूडेंट्स हैं या फिर जिन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स में career अभी अभी शुरुआत की है और उन्हें multimeter के बारे में कुछ नहीं आता है. हम यहाँ multimeter के most common features को explore करेंगे और current, voltage, resistance को measure करेंगे और continuity को कैसे check करेंगे वो भी पढेंगे.


Multimeter क्या है और हमे उसकी ज़रुरत क्यों है?

Multimeter एक measurement tool है जिसकी इलेक्ट्रॉनिक्स field में बहुत ज़ररूत होती है. इसमें तीन बहुत essential features present होती है: voltmeter, ohmeter और ammeter continuity. Multimeter हमे circuit में क्या हो रहा है, कैसे behave कर रहा है, हम पता कर सकते है. जब भी आपकी circuit में कुछ problem आ रहा है तो आप multimeter की मदद से troubleshoot कर सकते हैं. Problem जैसे:

  • क्या switch on है?
  • क्या wire electricity conduct करता है या वो broken है?
  • Led में कितना current flow हो रहा है?
  • Batteries में कितना power बचा है?
  • इक्विपमेंट सही है की नहीं
  • IC सही से काम कर रही है या नहीं 
  • कैपासिटर ख़राब हो गया है या सही है. 
  • और भी बहुत कुछ 

Multimeter की मदद से हम ये सभी questions के answer दे सकते हैं. चलिए Multimeter के साथ familiar होते हैं:


Multimeter में चार essential sections होते हैं:

  • Display: Measurements यहाँ display होता है.
  • Selection knob: इससे हम जो भी measure करना चाहते वो select कर सकते हैं.
  • Ports: यहाँ probes को हम plug करते हैं.
  • Probes: Multimeter दो probes के साथ आते हैं. एक red होता है और दूसरा black होता है.

Note: Red और black probes में कोई difference नहीं होता है ये सिर्फ colour होते हैं. इसलिए हम convention को assume करते हैं, DC voltages में ये बहुत useful साबित होता है :

  • Black probe को हमेशा COM (common) port से connect करते हैं.
  • दूसरा probe हम किसी दुसरे port से connect करते हैं जो भी quantity हम measure करना चाहते हैं उससे हम connect कर देते हैं.

Ports: COM या “_” port वह है जहाँ हम black probe connect करते हैं. COM probe conventionally black होता है. बाकी जो दूसरी red वाली probe है वो नीचे दिए गए तरीके से इस्तेमाल हो सकती है.

  • जब हम large currents 200mA से ज्यादा measure करते हैं तब 10A का उपयोग होता है.
  • Current को हम measure करने के लिए µA/mA का उपयोग होता है.
  • V/Ω की मदद से हम voltage और resistance measure करते हैं और continuity test करते हैं. ये ports multimeter पर depend करते हैं और वो vary हो सकते हैं.

Measuring Voltage:

हम multimeter की मदद से DC और AC voltage दोनों measure कर सकते हैं. V straight line के साथ DC voltage दर्शाता है.V wavy line के साथ AC voltage दर्शाता है.

Read Also: Voltmeter (वोल्टमीटर क्या है ) ? Types | working | Applications | Hindi me

Voltage measure करने के लिए process:

  1. अगर आप AC voltage measure कर रहे हैं तो आप mode V-wavy line select करे और अगर आप DC voltage measure कर रहे हैं तो V-straight line select करे.
  2. Red probe आप port V के साथ वाले से connected रखे.
  3. Red probe को आप component के positive side से connect करे.
  4. COM probe को फिर component के दुसरे side से connect करे.
  5. Display पर value को read करे.

Tip: अगर आप voltage measure कर रहे हैं तो आपको multimeter को component के साथ parallel में connect करना पड़ेगा. multimeter को parallel में रखने का मतलब प्रत्येक probe को components के leads के साथ रख उसका voltage measure करना होता है. आइये कुछ example भी देख लेते हैं लगे हाथो.

Example: measuring a battery’s voltage

  1. इस example हम 1.5 V की battery measure करना सीखते हैं. इसके लिए आपको selection knob की मदद से ऐसा range select करे जो 1.5V पढ़ पाए. इसलिए आप 2V select करेंगे. अगर आपके पास autorange multimeter है तो चिंता करने की कोई ज़रुरत नहीं है वो खुद से set कर देगा.
  2. अगर आपको नहीं पता चल रहा है की हम कौन सी range ले और आपको voltage measure करना है. अगर आप real value से कम select करते हैं तो आप display पर 1 देखेंगे और यह 1 यह बताता है को voltage range से ज्यादा है. और आप उससे ज्यादा range select करें. अगर आप बहुत high range select करते है तो आप value पढ़ पायेंगे पर less accuracy है.
  3. अब आप दोनों probe को red को +ve end से और –ve end से connect कर दे. Display पर आपको value दिख जायेगी.
  4. अगर हम red और black probe को switch कर देंगे तो आपको multimeter same value दिखाता है पर negative sign के साथ.

Example: Complete circuit में resistor के across voltage measure करना सीखते हैं.

Resistor के across voltage measure कैसे करे:

  1. आपको बस red probe को resistor के एक side के lead के साथ connect करे और black probe को resistor के दुसरे side के lead के साथ connect करे.
  2. Red probe को उस भाग से connect करे जिस direction से current आ रहा है.
  3. और हाँ probes को हमेशा सही ports में ही connect करें.

Measuring Current:

Current को measure करने के लिए हमे हमेशा दिमाग में रखना चाहिए की component को series में ही connect करना पड़ता है ताकि same current share हो सके. Parallel में रखने में करंट divide हो जाएगी और circuit की करंट को डिस्टर्ब करेगा.

Also Read: Ammeter (अमीटर) क्या है ? Working | Types

TIP: Multimeter को series में रखने के लिए आपको red probe को component के lead से connect करने के लिए और black probe को दूसरी component की lead से connect करना पड़ता है. Multimeter आपके circuit में एक wire की तरह काम करता है. अगर आप multimeter को disconnect करते हैं तो आपकी circuit काम नहीं करती है. Current को measure करने से पहले आप अच्छी तरह से देख लीजिये की आपने red probe को सही port में connect किया है. इस बार red probe µA/mA में connect होगा.

Circuit में current measure करने का सबसे आसान तरीका है की आप circuit को break कर दो और ammeter को series (in-line) circuit के साथ insert कर दे ताकि सभी electrons जो circuit के through flow हो रहे हैं वो meter के भी through भी flow करे. लेकिन current को इस तरह से measure करने के लिए meter को भी circuit का part होना पड़ता है. यह measurement थोडा voltage और resistance के measurement से difficult है.

Important Read: RTD ( आर टी डी ) क्या है और कैसे काम करता है .

जब ammeter को circuit के साथ series में रखा जाता है तो वह कोई भी voltage drop नहीं करता है क्युकि current flow हो रहा होता है. अगर component को parallel में connect करते हैं तो ammeter short circuit हो जाता है. अगर ऐसा होता है तो meter damage हो सकता है.

Ammeter Schematic Diagram:

multimeter: ammeter mode
multimeter: ammeter mode

Ammeter Illustration

multimeter: ammeter mode
multimeter: ammeter mode

Measuring Resistance:

आप कोई भी random resistor ले लीजिये और multimeter को 20KΩ पर set कर de और फिर probes को resistor के legs के साथ hold करे और उतना ही pressure लगाना जितना आप keyboard पर key press करने के लगाते हैं.

multimeter: resistance checking

Meter या तो 0.00,1, या resistor की actual value को read करेगा.

  • अगर आपका meter 0.99 read कर रहा है तो इसका मतलब होता है resistor की value 990Ω है क्युकि हमने अपना range 20Ω रखा है.
  • अगर आपका multimeter 1 या OL read करता है तो इसका मतलब वो overloaded है. आपको फिर high range select करना पड़ेगा जैसे 200KΩ या 2Ω.

अगर multimeter 0.00 या nearly zero read कर रहा है तो आपको mode को lower करना पड़ेगा जैसे 2Ω.


Continuity:

Continuity testing का मतलब है है की दो points के बीच में resistance को को test किया जाता है. अगर बहुत low resistance (few Ω से भी कम) होता है तो दोनों points electrically connect किया जाता है और  tone emit होता है. अगर resistance few Ω से ज्यादा है तो circuit open हो जाता है और कोई भी tone emit नहीं होता है. इस test की मदद से हम ये जान पायेंगे की connection दोनों points के बीच में correctly किया गया है की नहीं.

2019-01-26_15h46_16.png

यह feature हमे materials की conductivity को test करने के लिए इस्तेमाल होता है और electrical connection सही है या नहीं वो पता कर सकते हैं.

Multimeter को continuity mode पर रखे. ये अलग अलग DMM में vary होता है इसलिए आपको diode symbol propagation waves (जो की speaker के जैसा दिखता है) के साथ देखना होगा.

Continuity measurement कैसे काम करता है?

अगर आपका resistance दो points के बीच में बहुत कम है तो दोनों point electrically connect हो continuous sound produce करेंगे.

अगर sound continuous नहीं है या आप कोई भी sound सुन ही ना पा रहे हैं तो आप कोई faulty connection check कर रहे है या connection connected नहीं है.

Warning: continuity test करने के लिए आप system को turn off कर दें.  आप दोनों probe को साथ में connect करे और आप sound सुनेगे.

उम्मीद है आप सभी को multimeter को कैसे इस्तेमाल करना है वो पता चल चुका होगा. हमारे blogs को इसी तरह follow करते रहे.


Preeti

Preeti is pursuing her engineering under electronics engineering program. She always crave to learn the technology specially which touches the newfangled part. She has a bad habit of entering into the world of programming languages. She is still trying to be a developer and in her free time she is wordsmith to write her imaginations.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *