Mobile Photography Tips in Hindi

0
160

ऐसा बहुत सारे लोगो को कहते सुना होगा कि अगर आपके पास कोई महँगा फ़ोन ना हो तो आप अच्छी फोटोग्राफी नहीं कर सकते। तो गुरु, अपनी इस गलतफहमी को दूर कीजिए, फ़ोन महँगा हो या सस्ता फ़ोटो तो आप अभी भी खींच सकते है। तो इस आर्टिकल में हैं कुछ काम की बातें जो आपको आपकी मोबाइल फोटोग्राफी में मदद करेगी।
1.सबसे ज़रूरी आपके फ़ोन में फोटोग्राफी के लिए हैं कैमरा। लोग फ़ोटो लेने के चक्कर में कैमरा को भूल ही जातें हैं।जब तक आपका कैमरा साफ नहीं होगा तब तक कोई फ़ोटो सुंदर नहीं होगी,तो सबसे पहले एक साफ कपड़ा लीजिए और अपने कैमरा या लेंस को साफ करिए।मेरा यह कहना है कि आप जब भी बाहर जाइये तो एक छोटा सा कपड़ा साथ ही रखें, चाहे हसे पर्स में ही धीरे से सरका ले ।


2.अब जब आपका लेंस साफ हो चुका है तो अब हम फ़ोटो ले सकते। कई बार ऐसा होता है कि हम फ़ोटो लेते हैं और वो फ़ोटो सीधी नहीं आती। इस मुश्किल को दूर करने का उपाय है, ग्रिड लाइन्स। इसे शुरू करने के लिए आप कैमरा सेटिंग्स में जाइये और 3×3 का ग्रिड ऑन कर दीजिए। वैसे तो ग्रिड लाइन्स के तो बहुत से विकल्प होते है पर 3×3 का फोटोग्राफी के लिए awesome होता है. यह ग्रिड लाइन्स हमें और बहुत सी चीज़ों में मदद करेगा जिसे हम आगे देखेंगे।


3. तीसरी टिप एक नियम है जो बड़े बड़े फोटोग्राफर भी उपयोग करते हैं। इस नियम का है ‘रूल ऑफ थर्ड’ है। इसे करने के लिए आपको ग्रिड लाइन्स शुरू करनी पड़ेगी जो हमने पहले ही कर दी। अब जब फ़ोटो ले रहे हैं तब जिस main ऑब्जेक्ट की आप फ़ोटो लेना चाहते है उसे ग्रिड की तीसरी लाइन पर रखे। यह रूल या नियम human पर्सपेक्टिव का उपयोग करती हैं, जिससे यह फोटो देखने में अच्छी लगती है। यह नियम यह नहीं कहती कि आपको इसे हमेशा ही उपयोग करना पड़ेगा। मेरे हिसाब से आप जब फ़ोटो ले रहे हो तो एक फोटो रूल ऑफ थर्ड का उपयोग करते हुए लीजिये और एक नॉर्मल लीजिए, और उसमें से जो अच्छी लगे उसे ही आगे सिलेक्ट कीजिए।


3.तीसरी टिप भी एक नियम ही है। इसका नाम रूल ऑफ़ ऑड्स (odds)है। इस नियम के हिसाब से जब आप कोई वस्तु की फ़ोटो ले रहे हो, तब उस वस्तु की गिनती हमेशा विषम संख्या(odd number)में होनी चाहिए। उदाहरण की तौर पर जैसे कि आप कुछ फूलों की फ़ोटो ले रहे हो,तो उनकी संख्या 3 ,5 या कोई विषम संख्या में होनी चाहिए।


4.अब कुछ प्रो टिप्स। आज कल फ़ोन्स प्रो मोड (pro mode)या फिर मैन्युअल मोड (manual मोड) होता है।अब इसमें हम दो चीज़ों की बात कर्रेंगे।

  • (a)शटर स्पीड (shutterspeed)
  • (b)आई.एस.ओ(i.s.o)


शटर स्पीड (shutterspeed) का इस्तेमाल का अलग अलग तरीक़े से प्रयोग कर सकते हैं।अगर कोई तेज़ चलने वाली या गिरने वाली वस्तु है तो षटरस्पीड ज्यादा रखें, जैसे:1/1600s या 1/1000s। इससे तेज़ वस्तु की अच्छी फ़ोटो आएगी। पर जब आप शटर स्पीड (shutterspeed) बढ़ाएंगे, तब आई.एस.ओ(i.s.o) बढ़ाना पड़ेगा क्यूँकि जब शटर स्पीड बढ़ता है तो आपके कैमरा का लेंस बहुत कम समय के लिए खुलता है और कैमरा के अन्दर लाइट काफी कम जाती है तो फोटो डार्क आता है. उसे बैलेंस करने के लिए आई.एस.ओ (ज्यादा iso, ज्यादा लाइट) बढ़ाना पड़ेगा। उदाहरण के लिए जैसे आप बारिश की बूंदों की फ़ोटो ले रहे हो,बारिश की बूंदे बहुत तेज़ी से गिरती है, इसलिए शटर स्पीड को बढ़ाये और आई.एस.ओ. को भी और फिर फ़ोटो लीजिए, फिर देखिए कमाल !!
आखिर में यही कहना चाहता हूँ कि हर बार फोन आपकी की फ़ोटो में अंतर नही लाता ,अंतर लाता है आपका हुनर। जैसे एक कवि कोई भी निर्जीव वस्तु मे भी कुछ सुंदरता ढूंढ लेता है और उस पर एक कविता लिख देता है,उसी तरह आपको भी एक फोटोग्राफर होने के नाते सुंदरता खोजनी होगी। आपकी आस पास की हर एक चीज़ को गौर से देखिए और ,कुछ अलग ढूंढ़िए!!!
आशा करता हूं कि मेरे इस छोटे से प्रयास से आपको मदद मिलेगी।
।।।।।।।।।।।।।।।।।धन्यवाद।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here