Module 3 | Fundamentals of Python| Part 2

Chapter #5 | Numeric Literals


int (signed integers) जिसे हम अधिकतर integers या ints कहते हैं, ये positive या negative whole नंबर होते हैं, इसमें कोई decimal point नहीं होता.
long (long integers) long integers या longs, ये भी integer होते हैं जिसका size unlimited होता है, ये integerकी तरह लिखा जाता है और integer लिखने के बाद uppercase या lowercase L लिखा जाता है.
float (floating point real values) floats real नंबर represent करता है और उसे decimal point में लिखते हैं जो integer और fractional parts को divide करने पे मिलता है.
complex (complex number) complex नंबर a + bj के form में लिखते हैं. इस form में a और b floats है और J(या j) √-1 होता है, जो एक imaginary number है. a real part है और b एक imaginary part होता है.

चलिए अब एक एक कर पढ़ते है.


Integer literals (int और long integers दोनों)

integer literal whole numbers होते हैं जिसमे कोई fractional part नहीं होता है. नीचे दिए गए rule में integer constants कैसे लिखना है वो बताया गया है:

“integer constant में कम से कम 1 digit होना चाहिए और कोई भी decimal point नहीं होना चायेही. इसमें या तो (+) या (-) sign integer में लगा होता है. जिस नंबर में कोई भी sign नहीं लगा हो वो +ve integer होता है. integer constant में कभी भी commas नहीं होता है.

python 3 type के integer literals होते हैं:

1.Decimal integer: integer literals में digit का sequence होता है जैसे - 1254, 25, +45, -89.

2.Octal integer literals: ये एक sequence of digits जो 0 से शुरू होता है, वो octal integer. जैसे- decimal integer 8 को octal में 010 में लिखा जाता. decimal integer 12 को octal में 014 में लिखा जाता है. octal value में 0-7 तक के ही digits होते हैं; 8 और 9 अगर digit में है तो वो invalid हो जाते हैं. जैसे- 028,0987

3.Hexadecimal integer literals: sequence of digit जो 0x या 0X से preceed होता है वो hexadecimal integer होते हैं.

जैसे- decimal 12 को 0XC में hexadecimal में लिखा जाता है.

hexadecimal में digits 0-9 और letters A-F होते हैं. जैसे- 0A3,14D.

0XD9, PQC ये invalid हैं.

suffix l या L literal को long integer बना देता है. जैसे-33L long integer है और 33 integer हैं.

Floating point literals:

Floating literals real literals होते है.real literals numbers है जिसके पास fractional parts होते हैं. ये दो तरीके से लिखा जा सकता है- fractional या exponential form होते हैं.

1. Fractional form: Real literal जो fractional form जिसके signed और unsigned digits होते है और decimal points digits के बीच में होते हैं. real literal को लिखने का rule नीचे दिया गया है:

“real constant fractional form में होता है उसमे atleast ek digit decimal के पहले होता है और atleast एक digit decimal point के बाद में. नंबर के पहले (+) या (-) sign हो सकता है. real constant के आगे जब कोई sign ना हो तो positive नंबर होता है”

3.0, 17.5, -14.2, -0.00568 ये सारे valid real literals हैं.

नीचे दिए गए invalid real literals हैं:

7 (decimal point नहीं है)

7. (decimal point के बाद कोई भी digit नहीं है)

+19/2 ( /-illegal symbol)

1654.56.21 (दो decimal points है)

15,89.21 (comma allowed नहीं है)

2. Exponent form :

Real literal जब exponent form में लिखा जाता है तो उसमे दो part होता है : mantissa और exponent. जैसे- 5.8 को 0.58 * 101 = 0.58E01, जहां mantissa part 0.58 है (E के पहले वाला part) और exponent part 1 है (E के बाद वाला part). E01 101 है. real literal को exponent form लिखने का rule नीचे लिखा हुआ है:

“real constant को जब exponent form लिखते है तो उसके दो part होते हैं: एक mantissa और दूसरा exponent. mantisaa हमेशा एक real constant या integer होना चायेही. mantissa एक बाद letter E या e आता है और उसके बाद exponent. Exponent हमेशा integer होना चाहिए .

नीचे दिए गए literal valid literal है:

154E01, 1.42E02, 0.148E08, 148.0E02, 145E+8, -0.25E06

नीचे दिए गए literal invalid literal है:

148.E5, 1.7E, 0.145E5.6, 17,52E02, .25E-7


Boolean literals :

boolean literal python में True या False boolean values को represent किया जाता है. python में boolean literals values सिर्फ दो ही है- true या false


Special literal None:

python के पास एक special literal None है. None literal जब कोई object या कुछ नहीं बना है पर उसे हम create करना चाहते है तो उसमे None की value देते हैं. ये list के end को भी indicate करता हैं.

None value python में यह मतलब है: “There is no useful information” या “there’s nothing here” मतलब कोई भी उपयोगी information नहीं है कुछ भी नहीं है.


Literal Collection

चार तरह के literal कलेक्शन होते हैं जिन्हें डिफरेंट डिफरेंट तरीके से लिख सकते हैं. किसी भी value को इस तरह से लिखना हमेशा फायदेमंद रहता है जिससे उसे आसान तरीके से देख सके. ये नीचे लिखे हुए तरीके से आप बहुत आसानी से visible फॉर्मेट में देख सकते हैं.

List literals,

  • Lists: [1, 2, 3]

Tuple literals:

  • Tuples: (1, 2, 3)

Dict literals

  • Dicts: {1: 'one', 2: 'two'}

Set literals.

  • Sets: {1, 2, 3}


Chapter #6 | Python program का barebone (structure)

अब तक हमने देखा की python के features क्या है, python के fundamentals के बारे में पढ़ा. उसमे क्या –क्या literals का इस्तेमाल होता है, कैसे होता है, कब होता है और क्यों होता है. अब वक़्त आ गया की हम देखे की python का program कैसा दिखता है. उसमे क्या parts होते है. तो चलिए सबसे पहले हम देखते है एक sample program. इस बात की tension बिलकुल न ले अगर अभी आपको कुछ समझ में न आये तो, हम बाद में ये सभी topics को cover करेंगे. तो chill होके पहले प्रोग्राम के दर्शन कर लीजिये .

1

Program python script mode में लिखा हुआ :

2

Output python shell में:

3

जैसा की हम देख सकते हैं की उपर दिए गए program में अलग अलग components हैं, वो components के नाम नीचे लिखे हैं.

  • Expressions
  • Statements
  • Comments
  • Function
  • Blocks और indentation

तो चलिए अब सभी components को एक एक कर पढ़ते हैं.


1. Expressions

expression किसी भी symbols के legal combination को कहते हैं जो हमेशा कोई value represent करता है. Expression कोई ना कोई value represent करता है जिसे python evaluates  करता है और एक value produce करता है.

expression के example नीचे हैं:

15

2.9      ये दोनों expression है पर सिर्फ values हैं.

a+10

(6+5)/5   ये complex expression जो evaluate होने पे value produce होता हैं.

तो जो हमने उपर के code लिखे हैं उसमे अब आप expression खोजे:

ये है: a=10, b=a-5, a+15, b>5

2. Statements

जहां expression किसी value को represent करता है तो वही statement एक programming instruction है जो कुछ करता है मतलब की कोई न कोई action लेता है.

नीचे दिए गए example statement के है.

print “hello”

if b > 5:

expression हमेशा evaluate होता है तो वही statements execute होता है. ये ज़रूरी नहीं है है की statements हमेशा value ही दे कभी कभी ये value नहीं भी देता है.

उपर के code से statements के example:

a=10

b=a-5

print a+15

3. Comments :

Comments additional redable information है, मतलब जो किसी expression या statement के बारे में extra information बताता है. Programmer इस information को read कर सकता है परन्तु python interpreter इसे ignore करता है. Comments हमेशा # (hash character) से शुरू होता है और जैसे एक normal line खत्म होती है ये भी वैसे ही end होता है.

उपर के code में 4 comments हैं:

1. physical लाइन्स जो # से शुरू होता है वो फुल line comments हैं. उपर के code में 3 फुल line comments हैं.

# This program shows a program’s components

#  Definition of function sample() follows

#Main program starts here

2. जो हमारा 4th comment है वो inline comment है क्यूकि वो line के middle से शुरू होता है.

If b <5:                 #colon means it requires a block

Multi – line comments:

जब भी हम multi – line comments program में लिखना चाहते है तो इसके दो तरीके हैं:

  1. # ये symbol हर physical line के पहले लगा देने का जैसे-

 #multiline comments are useful for additional information.

 #clarify the doubts of programmer

 #related to the program in question

  1.      Comment को tripple quoted multi-line string में लिखे जैसे-

‘’’ multiline comments are useful for additional information.

  clarify the doubts of programmer

  related to the program in question’’’

ये multi-line comment को docstring भी कहते हैं. (“””) ये quotes भी इसतेमाल कर सकते हैं.

4. Functions

अब ध्यान देने वाली बात. कई बार एक ही set ऑफ़ इंस्ट्रक्शन बार बार उसे होता है. इसका मतलब ये नहीं की बार बार वो लाइन्स लिखी जाएँ. उसकी जगह हम एक सिंपल फंक्शन लिखेंगे. Function वो code है जिसका नाम लिखकर इसे बार बार हम use कर सकते है. program में सिर्फ function का  नाम लिख कर इस्तेमाल कर सकते हैं.

उपर के code में एक ही function है sample() जिसे def से define किया गया है. इसमें फिर सभी statements या expression लिखे हुए indented होते हैं.

function को program में run करने के लिए उसे call करना पड़ता है. जैसे हमने अपने code में अतिम statement लिखा है sample(). इससे function कॉल होगा और आपका प्रोग्राम रन हो जायेगा.

5. Blocks and indentation :

कभी कभी कुछ group of statements किसी और statement या function के part होते हैं वैसे group of statements को block या code-block या suite कहते हैं.

जैसे-

  if b < 5:

   print” value of a is greater than 10.

   print” thank you”

Note:

python हमेशा blocks के code के लिए indentation का उपयोग करता है. जो statement suite की जरूरत होती है उस statement के end में : colon होता है.



  Chapter #7 |Variables और assignments

variables.. जैसा की नाम से ही स्पष्ट है. जिसकी वैल्यू बार बार बदल सकती है. वेरिएबल एक्चुअली दिए हुए storage location को represent करता है, जिसकी value program run करते वक़्त हम manipulate (बदल) सकते हैं. जैसे- अगर हमे किसी स्टूडेंट का नाम और marks program run करते वक़्त store करना है तो हमें कोई label चाहये जो marks और नाम को refer करता हो. इसलिए, variables program में होते हैं. variable symbolic variable कहलाते हैं क्यूकि ये labels का काम करते हैं. जैसे, नीचे दिए हुए statement में variable name और marks बनाया गया है. क्या हुआ? अच्छे से समझ नहीं आया? कोई बात नहीं ये example देखिये  :

name=”Preeti”

ये variable string type है.

marks=95

ये variable numeric type है.

अब name और marks variable हैं. name preeti भी हो सकता है और priyanka भी.  इसी तरह marks 95 भी हो सकते हैं और 85 भी.


Creating a variable

चलिए तो अब सीखते हैं program में variable कैसे बनाये. अब जो statement हमने उपर लिखा variable बनाने के लिए, उसे ही example के तौर पर ले लेते हैं :

marks=95

जैसा की हम देख सकते हैं, हमने एक value जो numeric type है उसे एक identifier जिसका नाम marks है उसमे store किया है. और python ने variable बना दिया है और value भी उसी के जैसे store किया है. इसलिए हम कह सकते हैं marks एक numeric variable है और फिलहाल उसकी वैल्यू 95 है.

तो आसान हैं ना variable बनाना. python में variable बनाने के लिए आपको सिर्फ name assign करना होता है और उसमे appropriate  type की value. जैसे- हम student करके variable बनाते हैं और एक variable class करके, इसे बनाने के लिए भी हम वैसे ही statement लिखते हैं.

student=”Preeti”

class=12

python internally ही labels बनाता है जो किसी value को represent करता है जैसे नीचे दिखया गया है.

1.png

आसान है ना? चलिए तो कुछ और variable बनाते है.

Ticketno.=”r#[email protected]

roll=489

इसी तरह आपको जितने भी variable बनाना हो हम इसी तरह बना सकते हैं.


Multiple assignment

python assignments के साथ versatile है. तो अब बारी है अलग अलग तरीके से variable assignments सिखेने का.

  1. एक ही value बहुत सारे variable में store करना:

हम same value बहुत सारे variable में store एक ही statement लिखकर कर सकते हैं. जैसे-

a=b=c=5

ये value 5 a,b,c सभी को assign कर देता हैं.

     2. multiple value को multiple variable में assign करना:

हम multiple variable में multiple value को assign कर सकते हैं एक ही statement में, जैसे- x, y, z = 10, 20, 30. ये order wise variable में value store करता है. जैसे- value 10, x में store करता है, 20, y में store करता है, 30 z में store करता है.

ये स्टाइल value को assign करने का बहुत useful और compact तरीका है. example के लिए:

x, y =50, 100

print x, y

ये print करता है:

50 100

ये इसलिए print हुआ क्यूकि x में 50 store है और y में 100 है.

अगर x,y के value को swap (एक दुसरे से बदलना हो) तो हमे बस ये लिखना है,

x, y = y, x

print x, y

result ये आएगा:

100   50

जब value multiple assignments से assign होता है, तो ये रखने चाहिए.  python पहले RHS के expression को evaluate करता है फिर वो LHS को assign करता है.

जैसे-

2.png

  • statement1     5, 10 और 7 a, b, c को assign करता है.
  • statement2     पहले RHS को evaluate करेगा जो a+1=5+1, b+2=10+2,c-1=7-1 = 6,12,6

तो ये statement में b, c, a को 6, 12, 6 assign करेगा.

variable अगर evaluation के बाद change होता है तो change हुआ value store होता है. जैसे किसी statement में y,  y=x+2,  x+5 और x=10

तो पहले RHS की value पहले LHS में assign किया और फिर दूसरा RHS का value evaluate होने पे बदल किया तो वो दूसरे LHS में store होगा.

print y, y का output: 30  50 होगा


Variable definition:

python में variable तब तक नहीं बनता जब तक कोई value assign नहीं कर देते. इसे समजने के लिए एक code लेते है:

print a

a=5

print a

3

इस code को run करने पे error देगा.

4

ये error implicit है. variable a में पहले कोई value assign नहीं है और print कर दी है. a नाम का कोई variable बना ही नहीं है.

अगर हमे किसी variable का type पता करना हो तो type() function का इस्तेमाल होता है.

जैसे-

a=10

type(a)

5



Chapter #8 | Input औरoutput statement:

python 2.7 input के लिए दो function offer करता है: raw_input() और input(). output के लिए python में print statement है. अब इसे detail में पढ़ते हैं. ये थोडा इम्पोर्टेन्ट है तो इसे थोडा सा ज्यादा ध्यान देकर पढने की जरुरत है :

1.The raw_input() function:

python 2.7 में user से input लेने के लिए built-in function raw_input() का उपयोग करते हैं. इसे इस्तेमाल करने का तरीका:

1.png

raw_input की एक ख़ास property है जिसके बारे में हमे मालूम होना चाहिए. raw_input() function हमेशा string type की value ही return करेगी. उपर के code में name और age की value string की value return हुई है single quote(‘) में – ‘Preeti’ ‘18’. यह इसलिए होता है क्यूकि जो भी value हम function में देते हैं वो string की तरह treat होता है.

अगर हम इसे नंबर(integer) की तरह treat करेंगे तो ये error देगा.

2

यहाँ पर हमने जब integer value दी तब error नहीं आई उसने इसे string मान लिया. python कभी भी integer के साथ string के साथ operation नहीं हो सकता है.

इसलिए इस error को solve करने के लिए python int() और float() function offer करता है जो raw_input() के साथ use करना होता है. ये function enter हुई value को integer या float में convert कर देगी. देखते है कैसे:

>>> amount = int(raw_input(“paid amount :”))

paid amount :15000

>>> paid amount + 1000

16000

>>> amount = float(raw_input(“paid amount :”))

paid amount :15000.50

>>> paid amount + 1000

16000.50

>>> 

3

जैसा की हम देख सकते हैं amount variable, integer और float में convert हो गया. इसका type पता करने के लिए type function का उपयोग कर सकते हैं.

4

इसे हम दूसरे तरीके से भी कर सकते है जैसे नीचे दिखाया गया है.

5

note:

अगर आप int(raw_input()) function का उपयोग कर रहे हैं तो याद रखे data हमेशा numeric convertible होना चाहिए.


input() function:

हमारे पास python में एक और function है input के लिए. ये भी raw_input() की तरह इस्तेमाल होता है.

input([prompt])

example: age=input(“enter your age ; “)

input() function, integer value ही store करता है. इसमें int() और float() function का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं है.

Note: python (3.x) में raw_input() को rename करके input() कर दिया गया है और input() function python (2.x) का हटा दिया गया है.

अगर हम input() में string value enter करेंगे तो ये error देगा.

6


Print statement से output:

print statement python2.x में ये output send करता है एक standard output device को जो generally monitor होता है.

syntax: print [[,... ]]

ये example देखे:

print “hi”                     # a string

print 45                       # a number

print 3.14*(r*r)         # यहाँ पे calculation होगा, जो पहले python perform होगा और फिर print होगा.

print “hi”,15,12+5      # multiple comma से expression को separate किया है.

अब output के साथ देखते है:

7


Print statement के features:

print statement के जो इम्पोर्टेन्ट features हैं, वो हमने नीचे दिए हुए हैं  :

  • ये items को auto-convert string में कर देता है जैसे- अगर आप numeric value को print कर रहे हैं तो ये automatically string में convert कर print करेगा. numeric expression के लिए ये पहले evaluate करेगा फिर convert कर print करेगा.
  • ये items के बीच में automatically space दे देता है.
  • ये new line में खुद ही append हो जाता है पर कोई statement comma से end नहीं होना चायेही.

example:

code fragment1

a , b = 10, 30

print “a =”, a

print “b =”, b

उपर का code output ये देगा:

a = 10

b = 20

क्यूकि उपर के statement के कोई comma नहीं था इसलिए नए line में दूसरा statement print हुआ.

code fragment2:

a , b = 10, 20

print “a =”,a,

print “b =”,b

इसका output:

a =10 b= 20

इसमें पहले statement में comma था इसलिए next line में नहीं गया.

कुछ sample program देख लेते  हैं:

  1. program ऐसा बनाते है जिसमे हमे कोई चार integer लेने है और उन्हें add करके print करना है:8

output:

9

 2. circle का area calculate करना:

10

output:

11

तो ये थे कुछ प्रोग्राम. अगर आपको लग रहा है की हम sample program बना कर आपको छोड़ देंगे तो ये आपकी मिस्टेक है. तो अब आपको खुद भी कुछ प्रोग्राम प्रैक्टिस करने हैं. शुरुआत करते हैं इन प्रोग्राम्स से.

Practice question:

simple इंटरेस्ट गिनने के लिए program लिखे.

कोई नंबर n रीड करे और n2, n3 गिने.


तो यहाँ ख़त्म होते हैं पाइथन के fundamentals. अब शुरुआत होगी पाइथन की real पॉवर की. अब उम्मीद है की कुछ कुछ आईडिया आपको लगना शुरू हो गया होगा. बाकी तो प्रैक्टिस ही किसी भी programming language की key होती है. प्रैक्टिस करते रहिये एक दम जम के.

Nitin Arya

He is lucky be to a fast-growing YouTuber. Like every third person now in india, he is an engineer, working as manager in public sector. A photographer and a science teacher who usually deviates to the miracles of science rather than completing syllabus.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: