Foldable phones kaise kaam karte hain. Future & Affordability

0
42

फोल्डेबल फोन 2020  की सबसे अजीब और चौका देने वाला technology हो सकती है। आज हम देखेंगे की ये फोल्डेबल फ़ोन कैसे काम करते हैं, और हमें इन्हें खरीदने का मौका कब मिलेगा? फिर क्या हमारी रेंज के आस पास होंगे और क्या इन्हें खरीदना worth है? उठा लीजिये पॉपकॉर्न bucket और तैयार हो जाइये मेरे यानी समीक्षा के साथ इस राइड पर.

Foldable phone : New Trend in 2020

फोल्डेबल फोन एक स्पेशल  डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन होता है जिसे आधे में बांधा जा सकता है, बिलकुल एक कागज की तरह!


इन फ़ोनों को फोल्डेबल क्या बनाता है?

ज़रूर,  हमारे पास flip फोन थे जो 90’s और 2000 के दशक में उपयोग किए जा रहे थे, पर तब keypad और स्क्रीन अलग अलग हुआ करते थे तो उन्हें दो पार्ट्स में differentiate करना आसान था । लेकिन हम अभी स्मार्टफ़ोन की आगे में हैं और जब तक कि आपके स्मार्टफोन में एक flexible OLED डिस्प्ले, एक polymer स्क्रीन, (and few specialized components too) न हो  और  आपने अपने स्मार्टफ़ोन को आधे में मोड़ने का प्रयास किया, तो आपके पास एक टूटा हुआ फोन होगा (that’s for sure!)। और हाँ, lockdown में तो ये स्टंट बिलकुल मत करना. फोल्डेबल फोन बहुत सारा क्रांतिकारी तकनीक से भरे होते हैं, लेकिन इनमें से सबसे ज्यादा ग्राउंड-ब्रेकिंग कंपोनेंट्स जो आपको दिखाई देगा, वह फेमस flexible OLED डिस्प्ले है।

फोल्डेबल फ़ोन कैसे काम करते हैं ?

Organic light emitting diode displays (यानी की ओएलईडी डिस्प्ले) आर्गेनिक compounds के एक mesh के द्वारा electric पल्स भेज कर काम करते हैं| वे बेहद thin, flexible और vivid हैं। उन्हें बैकलाइट की आवश्यकता नहीं होती है, और वे भारी भरकम एलईडी डिस्प्ले (LCD) की तुलना में Bolder and Richer रंग produce कर सकते हैं।

ये सुंदर, लचीले डिस्प्ले मुख्य रूप से सैमसंग द्वारा निर्मित होते हैं, और वे पहले से ही विभिन्न प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल किया गया है जिनके साथ आप परिचित हो सकते हैं। Oh Yes, that’s right! गैलेक्सी एस 7 एज ( Galaxy S7 Edge) में flexible ओएलईडी डिस्प्ले है। IPhone X  में सैमसंग के OLED डिस्प्ले है।

I know what you are thinking ग्लास तो इतना flexible नहीं हो सकता है. ग्लास तो हमने देखा है, इतना bend करने पर टूट जाना चाहिए. एल्यूमीनियम और प्लास्टिक फोन के comparison में  तकनीकी रूप से बेंडेबल होते हैं, लेकिन वे एक-दो flex के बाद स्नैप हो जाते हैं। नतीजतन,  phone manufacturer’s  को flexible फोन के लिए बेंड पॉलीमर स्क्रीन विकसित करना पड़ा है। यदि आप उन्हें आगे और पीछे फ्लेक्स करते हैं  तो Powered circuitry और लिथियम-आयन बैटरी आग पकड़ सकती हैं. इसके लिए निर्माताओं को  एक solution खोजना पड़ा ।

फोल्डेबल फोन के  एंडलेस पॉसिबिलिटीज

तो, हम फोल्डेबल फोन के साथ क्या करने जा रहे हैं?  यह पता लगाना कठिन है कि यह trend कहाँ चल रहा है क्योंकि निर्माताओं ने पहले ही इस technology को कई तरह के अनोखे रास्तों में ले लिया है।

हम जानते हैं कि कुछ डिवाइस, जैसे Samsung Galazy F और Royole FlexPai , टैबलेट के आकार के स्मार्टफोन में विस्तार कर सकते है (which is simply beautiful).

Royole FlexPai

जब आप घूम रहे हों, तो आप इनका उपयोग नियमित स्मार्टफोन की तरह कर सकते हैं, या जब आप किसी मित्र को वीडियो-चैट करना चाहते हैं या कुछ काम करवाना चाहते हैं, तो आप उन्हें टेबलेट में बदल सकते हैं। टैबलेट के रूप में बदलने वाले फ़ोन,  मीडिया को उपभोग करने के तरीके को बदल सकते हैं, और वे चलते-फिरते काम करना और भी आसान बना सकते हैं!!

लेकिन क्या यह वास्तव में प्रैक्टिकल है?

पारंपरिक स्मार्टफ़ोन के बहुत सारी समस्याओं पर काम किया गया है। उनकी स्क्रीन टिकाऊ हैं, उनके पास सहन करने योग्य बैटरी जीवन है, और वे लोगों के उपयोग के लिए अपेक्षाकृत आसान हैं। लेकिन फोल्डेबल फोन हमें थोड़ा पीछे लेके जाएगा। उनके पास बड़ी स्क्रीन हैं जिनके लिए अधिक बैटरी पॉवर  की आवश्यकता होती है, वे ऐसी सामग्रियों से बने होते हैं जो बहुत टिकाऊ नहीं होते हैं, और वे औसत स्मार्टफोन से अलग तरीके से काम करेंगे।

Everything Is Possible GIFs - Get the best GIF on GIPHY

लेकिन स्क्रीन,  फोल्डेबल फोन का एकमात्र नाजुक हिस्सा नहीं है। इन फोन के foldable hinges  कमजोर पॉइंट्स (वे फ्लिप फोन पर भी थे) हैं क्योंकि वे ज्यादातर प्लास्टिक और हल्के धातुओं से बने होंगे। इन उपकरणों पर OLED डिस्प्ले करना भी एक मुद्दा होगा क्योंकि OLED समय के साथ (टीवी की तरह) Burn-In झेल सकता है.  और वे जिस आर्गेनिक मटेरियल से बने हैं, वह humidity से काफी प्रभावित होते हैं.

Affordability

यदि आप 2020  में एक फोल्डेबल फोन खरीदते हैं, तो आप एक ऐसे उपकरण के लिए बहुत सारा पैसा खर्च करने जा रहे हैं, जो डेलिकेट, lookwise थोडा सा dull,  power -hungry device है। याद रखें कि पहली पीढ़ी का iPad कितना unstable था?  हाँ, यह थोड़ा सा ऐसा ही होगा । लेकिन कम्पटीशन, तकनीकी प्रगति को बढ़ावा देती है, और ये फोल्डेबल डिवाइस (यदि वे लोकप्रिय हो जाते हैं) एक दशक से भी कम समय में आरामदायक और टिकाऊ हो जाना चाहिए।

तो दोस्तों हमने जान foldable phones का बेसिक, बनावट, usage और फ्यूचर possibilities और देखा कि इनकी affordability और durability क्या है. मिलूंगी आपसे अगले आर्टिकल में. तब तक के लिए. सायोनारा.

और हाँ, आपके पास भी है कोई जबरदस्त टेक्नोलॉजी से रिलेटेड मसाला और आपको है लिखने में जरा सा भी इंटरेस्ट तो आप हमे अपने आर्टिकल्स aryan.yudi@gmail.com पर भेज सकते हैं. हम पब्लिश करेंगे अपनी वेबसाइट पर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here