Artificial Pink Light Farming kya hai ?

0
269

हाय दोस्तों ,आज के इस सफ़र में, हम इन्सान लोग अपनी बनायीं हुई चीजों का सही तरह से उपयोग करके बहुत आगे जा रहे है. वैसे तो हम टेक्नोलॉजी के different aspect पर हम बाते करते रहते हैं. पर टेक्नोलॉजी आज के समय में किसी एक फील्ड में सीमित नहीं रही है और अलग अलग अनछुए फ़ील्ड्स में अपने पंख पसार रही है. तो दोस्तों आज इस आर्टिकल में हम कुछ डिफरेंट बात करने वाले हैं. इस मिटटी पर उगने वाले फसलो के बारे में. और वो भी हमारे technical अंदाज़ में. जी हाँ, आज हम Artificial Pink Light Farming की मदद से उगने वाले फसलो की बात करेंगे.

Artificial Pink Light Farming

Need of Artificial Pink Light Farming?

नाम सुनके tubelight जली? Outdoor farming और फसल को मिटटी पर उगाने की प्रक्रिया तो सदियों से चली आ रही है और जैसे जैसे हम technology में आगे बढ़ने लगे वेसे ही नए-नए Farming Methods भी अपनाये गए. Global Population बढ़ने के कारण  Farming methods में नए जुगाड़ करने की आवश्यकता बढ़ गयी. किसानो के लिए इतनी सारी जनता को फ़ूड source provide कराना इतना भी सरल काम नहीं है. सबसे महत्वपूर्ण है Climate जिसका अभी तो कोई भरोसा ही नहीं किया जा सकता, यह  कभी भी बदल जाता है, जो कि हाल के समय में काफी unpredictable है. जिसकी वजह से traditional Farming थोडा कठिन हो जाता है.  Artificial Farming थोडा science fiction की तरह लगता है परन्तु यह असल ज़िन्दगी में भविष्य में आने वाली food insecurity को मुहं तोड़ जवाब दे सकता है.

Pink House Crops

पिंक हाउस क्या है? और कैसे काम करता है?

पिंक हाउस एक नए तरह का इंडोर फार्म है जिसपर फसल को उगाया जाता है पिंक कलर की लाइट कि मदद से. पौधों को LED बल्ब का उपयोग करके Artificial प्रकाश के तहत एक Controlled एनवायरनमेंट  में उगाया जाता है.

पिंक लाइट फसल को एसी wavelength वाली रौशनी देता है, जिनकी उनको सबसे ज्यादा जरूरत होती है जो है blue और red. Plant के प्रकाश संश्लेषण यानि कि photo-synthesis machenism को लाल और नीले रौशनी की presence में अच्छे से काम करता है. तो maximum absorption करने के लिए in wavelength की लाइट की ही mainly जरुरत होती है. इसलिए researchers ने सिर्फ ऐसा system बनाया है जो सिर्फ इन wavelength को ही सपोर्ट करे और  useless wavelength को produce करने में resources न लगे ताकि lightning system का खर्चा भी कम आये.

बिना Sun के photo-synthesis?

यह system फसल को अच्छे के उगने में मदद करती है और वो भी सूर्यप्रकाश के बिना. इस light  plant की photosynthesis needs के साथ सही से match किया जाता है.

  • Blue wavelength वाली लाइट photomophism को प्रभावित करती है. कहने का मतलब यह है की प्लांट में stomata (जहा से पानी और chlorophyll का आदान  प्रदान होता है) को प्रभावित करती है.
  • Red लाइट दूसरी महत्त्वपूर्ण प्रतिक्रिया करने में मदद करती है जैसे seed का germination होना, रूट का जन्म लेना आदि.

कंट्रोल्ड enviromnent का क्या मतलब है?

हमने pinkhouse के machenism में controlled environment की बात की इसे controlled environment agriculture(CEA) भी कहा जाता है. यह technology के आधार पर चलने वाला machenism है जिसकी मदद से फ़ूड प्रोडक्शन कराया जाता है.

Controlled Environment Agriculture

CEA कैसे काम करता है?

इस तरह के agricultural method में कुछ ऐसे factors जो फसलो के उगने की क्षमता और तंदुरस्ती की लिए जरूरी होते है उन्हें controlled कर दिया जाता है जैसे:-

  • तापमान (हवा,sunlight अदि )
  • Humidity
  • Carbon dioxide
  • Light (intensity, spectrum, interval)
  • Nutrient concentration
  • Nutrient pH (acidity)

इन सब पैरामीटर्स के कंट्रोल से आप अपनी फसल को exactly वो दे सकते हैं जिसकी उसे जरुरत है. और बाकि चीजे अवॉयड कर सकते हैं. इससे आपकी फसल optimized way में grow करेगी.

Advantage ऑफ़ आर्टिफीसियल फार्मिंग

  • आर्टिफीसियल लाइट को यूज करके साल भर फसल उगा सकते है climate की चिंता किये बिना.   
  • Consumer को कम से कम समय में समय में क्रॉप्स का सप्लाई किया जा सकता है. क्यूंकि कंट्रोल्ड environment में प्रोसेस optimized रहते हैं.
  • इस प्रक्रिया से उगने वाली फसल pestes और disease से मुक्त होती है.
  • इस प्रक्रिया से फसल के उगने की rate बढ़ जाती है और काफी हद तक एनर्जी भी बच जाती है.

अभी तक बहुत बहुत सारी technology को एक्सपेरिमेंट किया गया है फसलो को उगाने के लिए और सारी techniques CEA operation के तहत ही लगायी जाती है  जैसे कि Hydroponics, vertical farming और LED light growing (Artificial pink light farming).

हमने इस आर्टिकल में pinkhouse मतलब artificial pink light farming के बारे में बात की. उम्मीद करते है आपको इस प्रक्रिया के बारे में थोडा बहुत तो idea लग गया होगा. Technology हर एक चीज़ में अपना योगदान दे रही है. चाहे वो Netflix पर latest वेब सीरीज हो या हमारे  फ़ूड प्रोडक्शन के लिए नयी नयी टेक्निक्स. चलिए दोस्तों आपसे आज के लिए इतना ही, मिलते है हमारे नेक्स्ट आर्टिकल में तब तक लिए बाय-बाय.         

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here